सच्ची है मेरी दोस्ती आजमा के देखलो

सच्ची है मेरी दोस्ती आजमा के देखलो,
करके यकीं मुझ पे मेरे पास आ के देखलो.
बदलता नहीं कभी सोना अपना रंग,
जितनी बार चाहे आग लगा कर देखलो।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *